15+ त्रिफला के फायदे|त्रिफला का सेवन कैसे करे |Triphala benefits in hindi

 15+ त्रिफला चूर्ण के फायदे|Triphala benefits in hindi


हेैलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में त्रिफला के फायदे और त्रिफला का सेवन कैसे करे उसके बारेमें विस्तार से बात करेंगे।
                      

    त्रिफला एक आयुर्वेदिक औषधि हे और हज़ारो बिमारिओं के लिए फायदेमंद है। इसलिए त्रिफला हरएक के घर मे मौजूद होता है। त्रिफला का मतलब आंवला,हरड़,बहेड़ा ये तीन फलो से बना हुआ मिश्रण। ये तीनो फलो को अमृत के सामान माना जाता है। आयुर्वेदिक भाषा में इन्हे अमलकी,विभीतक और हरीतकी कहा जाता है।

    त्रिफला चूर्ण कैसे बनाएं

    त्रिफला चूर्ण बनाने के लिए हरड़ का छिलका,बहेड़े का छिलका और बिना गुठली का आवला इन तीनो को बराबर भाग मे लेकर चूर्ण बनाकर एक छोटी बोतल में भर ले और इसका सलाह के अनुसार सेवन करे।

    औषधीय गुणों से भरपूर हे त्रिफला, हर मौसम में रोग मुक्त रखेगा त्रिफला, संजीवनी बुट्टी हे त्रिफला इसलिए त्रिफला के फायदे भरपूर है तो चलिए बात करते हे त्रिफला के फायदे के बारेमें।

    त्रिफला के फायदे निम्न प्रकार हे

    1) पेट साफ (कब्ज दूर ) करने के लिए लोग त्रिफला का सेवन करते हे ये त्रिफला का एक मुख्य गुण है।
    2) त्रिफला एक बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट है।
    3) त्रिफला कैंसर के रोगिओं के लिए भी बहोत फायदेमंद है।
    4) त्रिफला में शहद मिलाकर पिने से मोटापा कम होता है।
    5) त्रिफला का सेवन गैस और एसिडिटी की समस्या को दूर करता है।
    6) त्रिफला बालो की जड़ो को मजबूत करता हे और उसको जड़ने रोकता है।
    7) त्रिफला का सेवन पाचन शक्ति को मजबूत करता हे और भूख बढ़ाता है।
    8) रात में भिगाकर रखा त्रिफला को सुबह ब्रश करने के बाद कुले करने से मुँह की दुर्गंध दूर होती हे और दांत और मसूड़े मजबूत होते है।
    9) चर्म रोग जैसे खाज,खुजली,दाद,फोड़े-फुन्शी की समस्या को त्रिफला का सेवन दूर करता है।
    10) वायरस और बैक्टीरिया से सुरक्षा देता हे त्रिफला।
    11) त्रिफला का सेवन रोगप्रतिकारक शक्ति को बढ़ाता है।
    12) ब्लड सेक्युलेशन को कंट्रोल करता है।
    13) अगर आपको गाड़ी में बैठने का बाद चक्कर आने की समस्या हे तो त्रिफला का सेवन इस समस्या का समाधान है।
    14) त्रिफला चूर्ण का सेवन स्ट्रेस को दूर करने के लिए भी काफी हद तक फायदेमंद है

    यहाँ क्लिक करके देखे 

    त्रिफला कब लेना चाहिए

    रात को सोने से पहले 6 से 8 ग्राम त्रिफला चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ लेने से कब्ज की समस्या दूर होती है और अगर आप इसे दूध के साथ लेना चाहते हो तो भी ले सकते हो।

    अगर आपको ये त्रिफला के फायदे जानकर अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले।

    Share on Whatsapp

    कोई टिप्पणी नहीं:

    If you have any question.please let me konw

    Blogger द्वारा संचालित.