12+ National Emblem of India Ashok Stambh के रोचक तथ्य-Ashok stambh in hindi

  National Emblem of Indai Ashok Stambh(भारत का नेशनल एम्ब्लेम अशोक स्तंभ) के रोचक तथ्य

Ashok Stambh In Hindi 

India National emblem Ashok stumbh

दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में बात करने वाले हे भारत के गौरव की, भारत के शान की, भारत के गर्व की, भारत का नेशनल एम्ब्लेम अशोक स्तंभ (National Emblem of india Ashok Stambh) की और उसके निर्माणकर्ता मौर्य वंश के सम्राट अशोक (Samrat Ashok) के बारेमें।

    1) सम्राट अशोक का जन्म कब हुआ था?

    सम्राट अशोक (Samrat Ashok)  का जन्म 304 ईसा.पूर्व पटना के पाटिलपुत्र शहर में हुआ था। और सम्राट अशोक मौर्य वंश के तीसरे शासक थे। 

    2) सम्राट अशोक माता पिता का नाम क्या है?

    सम्राट अशोक (Samrat Ashok) के पिता का नाम बिन्दुसार और माता का नाम रानी धर्मा था। सम्राट अशोक के पिता मौर्य वंश के दूसरे राजा थे।

    3) सम्राट अशोक की पत्नी का नाम क्या है?

    सम्राट अशोक की उज्जैन में अपने इलाज के दौरान विदिशा महादेवी साक्या से मुलाकात हुई और उसने उसके साथ विवाह किया। इस विवाह के बाद सम्राट अशोक के घर दो बच्चे (एक बेटी और बेटा) का जन्म हुआ।

    4) सम्राट अशोक ने अपने राज्य को बड़ा करने के लिए कलिंग युद्ध किया और विजय प्राप्त किया था लेकिन कलिंग युद्ध में हुई हिंसा को देखकर सम्राट अशोक को बहोत गहरा आघात लगा था और उसने उसी वक्त युद्ध नीति का त्याग कर दिया और बौद्ध धर्म अपनाया था।

    5) सम्राट अशोक के बेटा और बेटी का नाम क्या है?

    सम्राट अशोक ने बौद्ध धर्म का प्रचार करने के लिए अपने पुत्र महेंद्र और बेटी संघमित्रा को श्रीलंका भेजा था।

    6) सम्राट अशोक ने 250 ईसा.पूर्व अशोक चक्र (Ashok chakra) का निर्माण कराया था जो की अशोक स्तंभ (Ashok stambh) के ऊपर स्थित है। अशोक स्तंभ (Ashok stambh) के शीर्ष भाग को सिंहचतुर्मुख कहा जाता है।

    7) अशोक स्तंभ (Ashok stambh) को बनाने का मुख्य उदेश्य बौद्ध धर्म और सिद्धांत का प्रचार करना और लोगो को बौद्ध धर्म के प्रति जागरूक करना था।

    8) सम्राट अशोक ने बौद्ध धर्म का प्रचार करने के लिए तीन साल के भीतर ही 84000 स्तूपों का भारत के अलग अलग स्थानों में निर्माण कराया था।

    9) National emblem of india ashok stambh (अशोक स्तंभ) कहाँ है?

    सम्राट अशोक ने जो 84000 स्तूपों का निर्माण किया था उसमे से एक उत्तरप्रदेश के सारनाथ में हे जिसको अशोक स्तंभ (Ashok stambh) के नाम से जाना जाता है।

    10) सारनाथ के अशोक स्तंभ ( Sarnath Ashok stambh) को चुनार के बलुआ पत्थर से बनाया गया था।

    11) अशोक स्तंभ (Ashok stambh) को बनाने में 3 लाख 52 हज़ार लोगो का श्रम और उसके निर्माण में 6.5 साल का वक्त लगा।

    12) अशोक स्तंभ का कुल वजन 50 टन और उचाई 15.25 मीटर है।

    13) अशोक स्तंभ पे तीन लेख लिखे गए थे जिसमे एक ब्राह्मी लिपि, दूसरा कृषाण काल और तीसरा गुप्त काल का है।

    14) सिंह स्तंभ कहाँ स्थित है?

    अशोक स्तंभ (Ashok stambh) भारत का राष्ट्रीय प्रतिक (National emblem of india) है। अशोक स्तंभ अभी उत्तरप्रदेश के वाराणशी के पास सारनाथ में है और अशोक स्तंभ आज भी सारनाथ में आसमान को चूमता हुआ खड़ा है। परंतु अशोक चक्र (शीर्ष भाग सिंहचतुर्मुख ) को राष्ट्रीय सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए सारनाथ म्यूजियम में रखा गया है।

    15) अशोक स्तंभ(Ashok stambh animal) में कितने जानवर है?

    अशोक चक्र (Ashok chakra) के ऊपर चार सिंह बड़ी आँखों के साथ बैठे हुए मिलेंगे लेकिन आपको सिर्फ तीन सिंह दिखाई देंगे बाकि का एक सिंह पीछे होता है। यह सिंह इस बात का प्रतिक हे की शौर्य बहोत हे, ताकत बहोत हे, क्रोध बहोत हे लेकिन फिर भी शांति से बैठे हुए है। क्योकि भारत की संस्कृति, भारत की पहचान क्रोध करना कभी भी नहीं थी परंतु जब भी वक्त आएगा तो फिर शेर तो शेर है।

    16) ठीक उसके निचे ड्रम पे एक भागता हुआ घोडा, एक बुल, एक हाथी और एक शेर बने हुए है जो की हमारे भारत के अलग अलग वर्गों को दर्शाते है।

    National emblem Ashok stumbh

    17) इन चारो सिंह के निचे बिच में धर्म चक्र बना हुआ हे जो बुध्हिस में एक रास्ता हे निर्वाना पाने का। ये वही धर्म चक्र हे जो भारत के रास्ट्र ध्वज पे दिखाई देता है जिसको हम अशोक चक्र के नाम से जानते है।

    18) इन सबके निचे हमें कमल के फूल की उल्टी आकृति दिखाई देती हे जिसके ऊपर हमारा अशोक चक्र बिराजित है।

    19) 26 जनवरी 1950 संवैधानिक तरीके से अशोक चक्र (Ashok chakra) को हमारे देश का नेशनल एम्ब्लेम घोषित किया गया था।

    20) दोस्तों आपने देखा ही होगा की हमारे नेशनल एम्ब्लेम के निचे दो शब्द लिखे हुई हे 'सत्यमेव जयते' जिसका अर्थ होता हे 'सत्य की ही जीत होती है'। अशोक स्तंभ (Ashok stambh) पर इस शब्द की नकाशी ब्राह्मी लिपि में हुई है उस वक्त जब बहोत सारे देश तो शायद बने भी ना थे। क्या आप जानते हे की ये दो शब्द कितने पुराने हे इसको मुण्डकोपनिषद में सबसे पहले देवनागरी लिपि में लिखे गए थे। और मुण्डकोपनिषद जिसकी खुदकी आयु 39,07,393 साल है जिसमे महाकाल ने भद्रक को कहा था 'सत्यमेव जयते'।

    21) दोस्तों भारत के राजचिन्ह (National emblem) के सम्बन्ध में कानून बने हुए है 
    1) राजकीय प्रतीक (अनुचित प्रयोग निषेध )अधिनियम 2005
    2) भारत के राजकीय प्रतीक (उपयोग विनियमन) नियम 2007
    3) भारत के राजकीय प्रतीक (उपयोग विनियमन) नियम 2010

    22) दोस्तों अब जानते हे की इस National emblem symbol of Ashok stambh का उपयोग कहाँ और कैसे होता है। दोस्तों अशोक स्तंभ शीर्ष भाग को भारत के राष्ट्रपति, केंद्र सरकार, राज्य सरकार द्वारा उपयोग किया जाता है। ये सरकारों का आधिकारिक चिन्ह यानि ऑफिशियल सील है।

    23) दोस्तों इन National emblem symbol of Ashok stambh का उपयोद तीन रंगो में किया जाता है। 
    1) अशोक स्तंभ (Ashok stambh) का नीला रंग भारत के मंत्रीओ द्वारा
    2) लाल रंग राज्यसभा सदस्य व अधिकारियो द्वारा
    3) हरा रंग लोकसभा सदस्य द्वारा उपयोग में लिया जाता है।

    National emblem Ashok stumbh

    दोस्तों तो ये था हमारे भारत के नेशनल एम्ब्लेम अशोक स्तंभ (National emblem of india Ashok stambh) के पीछे का स्वर्णिम इतिहास अगर आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजिए।

    Share on Whatsapp

    कोई टिप्पणी नहीं:

    If you have any question.please let me konw

    Blogger द्वारा संचालित.