वज्रासन के फायदे और विधि - Vajrasana benefits in hindi


वज्रासन के फायदे और विधि - Vajrasana benefits in hindi - Vajrasan steps in hindi -Vajrasana in hindi 


नमस्कार मित्रो आज हम इस लेख में वज्रासन के फायदे-Vajrasana ke fayde और वज्रासन कैसे करे-Vajrasana kaise kare उसके बारेमें विस्तार से बात करेंगे। और वज्रासन करते समय कोनसी सावधानी रखनी चाहिए उसकी भी चर्चा करेंगे तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

वज्रासन संस्कृत भाषा का शब्द है। जिसको दो शब्द (वज्र+आसन) को मिलाकर बनाया गया है। जिसमे 'वज्र' का अर्थ 'आकाश में गरजने वाली बिजली' और 'आसन' का मतलब योग करते समय बैठने की मुद्रा होता है। वज्रासन अंग्रेजी में 'डायमंड पोज़' से भी जाना जाता है। वज्रासन एक ऐसा आसन हे जिसको कोई भी समय कर सकते है इसकी एक खास बात ये भी हे की वज्रासन को भोजन के बाद तुरंत भी किया जा सकता है और वज्रासन की स्थिति में बैठकर प्राणायाम भी किया जा सकता है।

वज्रासन के अभ्यास से पाचनतंत्र मजबूत बनता है जिसके कारण वज्रासन को पाचनशक्ति बढ़ाने के लिए उत्तम योगासन माना जाता है। वज्रासन से पैर और जांघ के स्नायु मजबूत बनते है। तो चलिए जान लेते हे की वज्रासन कैसे करेंयहाँ देखे ताड़ासन के फायदे

    वज्रासन कैसे करे - Vajrasana steps in hindi

    वज्रासन की विधि निचे विस्तार से दी गई हे ध्यान से पढ़े :

    1. सबसे पहले स्वच्छ और शांत जगह का चुनाव करें और मैट बिछा लें ।

    2. अब मैट के ऊपर समान्य मुद्रा में बैठ जाये।


    3. अब अपने दोनों पैरों को अपने सामने की और फैला दें जिससे आपके शरीर का आकार 90° का एंगल बनाएगा।


    4. अब अपने दोनों पैरों को घुटने से एक के बाद एक मोड़े और अपने नितंब के निचे रखें। ध्यान रखें की आपके पैरों के तलवे आकाश की और रहेंगे जिसके ऊपर आपके कुल्हें आराम से टिका पाए। यहाँ देखे कपालभाति प्राणायाम कैसे करे


    5. इस मुद्रा में बैठने अपने दोनों हाथों को मोड़े बिना घुटने के ऊपर रखें। याद रहें दोनों हथेली घुटने की ओर रखनी है।


    6. पीठ और सिर को एकदम सीधा रखें और आराम महसूस करें।

    8. अब आंखे बंद कर लें और सामान्य गति से नाक के माध्यम से साँस लें और बहार छोड़े। यहाँ देखे भस्त्रिका प्राणायाम के फायदे


    9. इस प्रक्रिया को पांच मिनिट तक करे उसके बाद मुड़े हुए घुटने को सीधा करें और सामान्य मुद्रा की स्थित में बैठ जाए।

    वज्रासन की समयसीमा

    वज्रासन के अभ्यास को शरुआती समय में पांच मिनिट तक करना चाहिए। नियमित अभ्यास करने के बाद इसको दस से पंद्रह मिनिट तक किया जा सकता है।

    वज्रासन को खली पेट या खाना खाने के बाद दिन के किसी भी समय किया जा सकता है।

    वज्रासन के फायदे - Vajrasana benefits in hindi

    वज्रासन के फायदे निचे विस्तार से दिए गए हे ध्यान से पढ़े :

    1. वज्रासन से पाचनशक्ति मज़बूत बनती है और कब्ज की समस्या दूर होती है। यहाँ देखे भ्रामरी प्राणायाम के फायदे

    2. यह आसन करने से मन की चंचलता दूर होती है और मन को शांत करता है।

    3. पैर और जांघ की मांसपेशियों को मज़बूत करता है।

    4. वज्रासन की स्थिति में बैठने से आपका पूरा शरीर एकदम सीधा हो जाता है इसलिए ध्यान करने के लिए वज्रासन एक महत्वपूर्ण आसन है।

    5. वज्रासन के अभ्यास से शरीर स्फुर्तीला बनता है।

    6. भोजन करने के बाद वज्रासन के अभ्यास से भोजन का पाचन क्रिया मे वृद्धि होती है।

    7. यह आसन महिलाओं को प्रसव पीड़ा मददरूप बनता है।

    8. वज्रासन का अभ्यास साइटिका की समस्या को दूर करता है।

    9. शुक्र दोष और वीर्य दोष को दूर करता है।

    10. पेट की समस्या जैसे गैस होना, अपचा, पेट की चर्बी को कम करता है।

    11. शरीर का वजन कम (Weight loss) करने में सहायता करता है।

    12. उच्च रक्तचाप ( High blood pressure) की समस्या वाले को वज्रासन का अभ्यास बहोत उपयोगी साबित होता है।

    वज्रासन करते वक्त कोनसी सावधानी रखनी चाहिए - Vajrasana precautions


    1. अगर वज्रासन की स्थिति में बैठने से पेट दर्द या कमर दर्द होने लगे तो ज्यादा देर तक न बैठे।

    2. अगर पैर में कोई भी जगह ऑपरेशन हुआ हे तो डॉक्टर की सलाह के बिना वज्रासन न करें।

    3. गर्भवती महिलाओं को वज्रासन नहीं करना चाहिए।

    4. मोटे शरीर वाले व्यक्ति को यह आसान योगप्रशिक्षक के सामने ही करना चाहिए ताकि इसका अभ्यास करते वक्त होने वाली समस्या से बचा जा सके। यहाँ देखे भुजंगासन के फायदे 

    वज्रासन करने पहले कोनसे आसान करने चाहिए :


    1. शलभासन
    2. अर्ध शलभासन

    वज्रासन करने के बाद कोनसे आसान करने चाहिए :


    1. बालासन
    2. शवासन
    3. मक्रासन

    आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी। जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कीजिए।


    Share on Whatsapp

    कोई टिप्पणी नहीं:

    If you have any question.please let me konw

    Blogger द्वारा संचालित.